मेरा पक्ष...

Just another weblog

134 Posts

107 comments

pradip01paliwal


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

सबसे खतरनाक होता है…

Posted On: 19 Sep, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

कविता में

0 Comment

कुंठित की डायरी से…

Posted On: 16 Sep, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

पॉलिटिकल एक्सप्रेस में

0 Comment

झपकियों से पूछा जा सकता था…

Posted On: 9 Sep, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

कविता में

0 Comment

कुंठित की डायरी से…

Posted On: 28 Aug, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

पॉलिटिकल एक्सप्रेस में

0 Comment

चुपचाप

Posted On: 10 Jul, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

कविता में

0 Comment

“ईशू उवाच”

Posted On: 3 Oct, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

social issues में

0 Comment

मौन

Posted On: 29 Sep, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others social issues में

0 Comment

इतिहासकारों के षड़यंत्र

Posted On: 10 Sep, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

हिंदुत्व के मुक़ाबले ईसाई मिशनरी

Posted On: 3 Sep, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

Page 1 of 1412345»10...Last »

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा: pradip01paliwal pradip01paliwal

हमारी बाद की आर्थिक/सामाजिक नीतियों में अंग्रेज़ी सामंती/उपनिवेशी मानसिकता के क्रूर चिन्ह आसानी से खोज़े जा सकते हैं ! सिर्फ़ बौद्धिकता का तमगा हासिल करने के लिए ‘डिसकवरी ऑफ़ इंडिया’ लिखी गई ! किसी ने सचमुच ‘भारत की खोज़’ करने / भारत को जानने की चेष्टा नहीं की ! 60 वर्ष से कांग्रेस भारत की ‘आत्मा’ को लहूलुहान करती आ रही है ! वैचारिक रूप से वाक़ई समय ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का है !  जब मैं कांग्रेस मुक्त भारत की कल्पना करता हूँ तो मेरा आशय ‘मोदी’ के वैलकम से नहीं जोड़ा जाना चाहिए ! मैं सिर्फ़ और सिर्फ़ भारत की तरक्की चाहता हूँ !और मेरा मानना है कि किसी दूसरी ( कांग्रेस मुक्त ) विचारधारा को क्यूँ नहीं आज़माया जाना चाहिए ! एक विकल्प के रूप में ‘मोदी’ 60 महीने माँग रहे हैं ! दिए जाने चाहि .बहुत ही सुन्दर और बढ़िया आलेख , बधाई

के द्वारा: jagojagobharat jagojagobharat

के द्वारा: pradip01paliwal pradip01paliwal

के द्वारा: yamunapathak yamunapathak

के द्वारा: deepakbijnory deepakbijnory

के द्वारा: DR. SHIKHA KAUSHIK DR. SHIKHA KAUSHIK

के द्वारा: yamunapathak yamunapathak

इहलोक/परलोक/मोक्ष की गूढ़ / अस्पष्ट परिभाषाओं से दूर एक छोटा-सा बच्चा अपनी माँ की उँगली से छिटक कर प्रलय रूपी बाढ़ में बह जाता है…यदि आपको लगता है यही तय था / नियति थी / प्रभु इच्छा थी…तो मुझे आपसे कोई बात नहीं करनी ! हाँ ! इस मासूम की मौत के लिए आप स्वयं को / समाज को / धर्म को / सत्ता को दोषी मानते हैं तो मैं आपके साथ सहानुभूति रखते हुए आपको आमंत्रण देते हैं कि आइए हम आप मिलकर धर्म के वास्तविक स्वरूप को समझें और प्रकृति और अपने रिश्ते को सचमुच नेचुरली परिभाषित करें…क्यूंकि बच्चा/बच्चे/लोग मर चुके हैं लेकिन सुन सकें तो इन लोगों की चीख फ़िज़ाओं में अभी भी गूँज रही है !प्रस्तुति का तरीका बहुत आकर्षित करता है ! विषय भी बहुत बढ़िया

के द्वारा: yogi sarswat yogi sarswat

के द्वारा: jlsingh jlsingh

के द्वारा: ऋषभ शुक्ला ऋषभ शुक्ला

के द्वारा: pradip01paliwal pradip01paliwal

आदरणीय प्रदीप जी, हम विशुद्ध भारतीयों की यही समस्या है कि देश से प्यार भी अथाह है पर सिस्टम के खिलाफ आक्रोश भी ज़बरदस्त है.... ये चंद मुट्ठी भर आक्रोशित लोग संसाधनों कि कमी या सहयोग के बिना असहाय होते हैं तो आक्रोश और भी बढ़ता है...हमारे पास भी अथाह पैसा होता तो हम भी अपने बच्चे केलिए यही सब करते, नहीं है तो सिर्फ आंचल में समेट कर ही ममता लुटाते हैं....गरीबी है.अवसरों की कमी है, आम आदमी आन्दोलन करता है तो आगे चल कर राजनीतिक पार्टी बना कर मतलबपरस्तों की भीड़ में खो जाता है... शिंदे को कोस सकते हैं लेकिन एक "राइट टु रिकॉल" और "राइट टु रिजेक्ट " का प्रयोग नहीं कर सकते..... बहुत सी कमियां हैं ....अभी हम "उन" से बहुत पीछे हैं.....

के द्वारा: sinsera sinsera

के द्वारा: pradip01paliwal pradip01paliwal

के द्वारा: pradip01paliwal pradip01paliwal

के द्वारा: ajaykr ajaykr

के द्वारा: pradip01paliwal pradip01paliwal

के द्वारा: pradip01paliwal pradip01paliwal

के द्वारा: puneetmanav puneetmanav

के द्वारा: yatindranathchaturvedi yatindranathchaturvedi

के द्वारा: yatindranathchaturvedi yatindranathchaturvedi




latest from jagran